Saturday, 10 January 2015

दिल्ली में मोदी की दहाड़

दिल्ली में विधानसभा चुनाव का विगुल बज चुका हैं। जहां एक ओर तरफ ठंड पर सितम जारी हैं तो वही दूसरी ओर दिल्ली कि सियासत गर्म हो गई है। सभी पार्टीया जनता को लुभाने की कोशिश में लगी हुई हैं। ऐसा ही कुछ आज दिल्ली के बीजेपी रैली में देखने को मिला। दिल्ली के रामलीला मैदान में जहां एक ओर मोदी हुंकार भर रहें थे तो उस समय पुरी दिल्ली की जनता मोदी मय हो चुकी थी। मोदी जब मंच पर पहुचे तब रामलीला मैदान का नजारा देखने लायक था। मोदी रैली में आए हुए सभी लोगों का अभिनंद किया. और कहा की मोदी सरकार जब से केन्द्र में आई हैं तब से देश में नए-नए कार्य किए हैं। मोदी ने कहा कि कांग्रेस शासनकाल में किसी गरीब को बैंक में नहीं देखा जाता था लेकिन मौजूदा सरकार की ‘जनधन योजना’ कार्यक्रम ने गरीबों के लिए बैंक का सपना साकार कर दिया. उन्होंने जिस देश में एक साल में एक करोड़ खाते खुल पाते थे वह मौजूदा सरकार ने एक सप्ताह में कर दिखाया. इसी फेहरिस्त में देश में अब तक 11 करोड़ खाते खुल चुके हैं. इस तरह जीरो बैलेंस पर भी देश में लोगों ने 100-200 रुपये करके 8 हजार 500 करोड़ रुपए जमा किया.

मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत करते हुए कहा कि अमित शाह बीजेपी के सर्वाधिक सफल राष्ट्रीय अध्यक्ष बन चुके हैं. दिल्ली में इस रैली में हाल ही में हुए विधान सभा चुनावों में नवनियुक्त बीजेपी के मुख्यमंत्रियों को भी आमंत्रित किया गया था. उन्होंने बीजेपी के नवनियुक्त झारखंड, हरियाणा और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्रियों का जमकर बखान किया. भाषण के शुरुआत में तीनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों की तारीफ से की।
कश्मीर चुनाव के लिए वहां की जनता का धन्यवाद भी किया. उन्होंने कहा कि वहां तमाम विपरीत परिस्थितियों के बावजूद वहां की जनता ने लोकतंत्र को मजबूत बनाने के लिए मतदान किया. वहां की जनता ने 70 फीसदी तक मतदान किया.


मोदी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने जम्मू कश्मीर में ऐतिहासिक जीत प्राप्त की है. प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू के कार्यों का जिक्र करते हुए जमकर तारीफ की. उन्होंने कहा कि वेंकैया जितना ज्यादा अपने जनपद हैदराबाद के बारे में जानते हैं उतना ही दिल्ली के गली-कूचों के बारे में जानते हैं. मोदी ने बेरोजगारों के भविष्य को लेकर अपने संबोधन में कहा कि मौजूदा केंद्र सरकार नौजवानों के बारे में लगातार प्रयासरत है. मोदी ने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में 40 साल पहले बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया गया था. लेकिन उससे सिर्फ अमीरों को फायदा मिलता था गरीबों को नहीं. बैंकों को भ्रष्टाचार का आड्डा बना दिया गया. दिल्ली में अकेले 19 लाख 50 हजार खाते खोले गए. इसका सीधा मतलब है कि दिल्ली की जनता लगभग पूरी तरह से बैंक खातों से बेदखल थी.

मोदी ने कहा कि दिल्ली में पीने के पानी का पैसा भारत सरकार चुकता कर रही है.प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री के तौर शपथ लेते ही मैने पहले ही कहा था कि मौजूदा सरकार गरीबों को समर्पित है. मोदी ने आम आदमी पार्टी पर परोक्ष रूप से हमला बोलते हुए कहा कि दिल्ली में राजनीति चली जाती थी कि दो चार अमीरों को गाली देकर गरीबों को खुश करो. लेकिन अब समय आ गया है कि जनता अमीरों को गाली देने में खुश नहीं होगी. उन्होंने कहा कि दिल्ली को जेनरेटर से मुक्त कर दूंगा. दिल्ली की जनता को बिजली का सर्विस प्रोवाइडर चुनने की सुविधा दिलाएंगे. इससे बिजली प्रोवाइडर कंपनियों में भी अच्छी सुविधा देने का कंपटीशन होगा.

मोदी ने कहा कि देश से भ्रष्टाचार बिल्कुल पूरी तरह से जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि सबसे पहले भ्रष्टाचार मुक्त का अभियान जहां मैं बैठता हूं वहीं से शुरू किया है. इस अभियान को गली-मोहल्लों तक लाने वाला हूं. देश को भ्रष्टाचार से मुक्ति दिलाकर रहूंगा. मोदी ने कहा कि मेरा एक सपना है आप लोगों की उसमें मदद चाहिए वह है 2022 में भारत की आजादी के 70 साल हो तब भारत में हर गरीब का पक्का घर हो. हालांकि यह काम छोटा नहीं लेकिन देश की जनता ने इसी तरह के बड़े कामों के लिए हमें चुना है. मोदी ने परोक्ष रूप से आम आदमी पार्टी के नेताओं के जूठ का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि हमें इसके तह में जाने की जरूरत नहीं है क्योंकि इसका बदला जनता स्वयं देगी. उन्होंने कहा झूठ फैलाना ही उनकी राजनीति का तरीका है.

मोदी ने आम आदमी पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल पर परोक्ष रूप से हमला करते हुए कहा कि जिसको जो काम पसंद हो वह काम दिया जाना चाहिए. मतलब जिन्हें धरना देने, प्रदर्शन करने में महारथ हासिल है उन्हें वह दो और हमें अच्छे शासन के लिए वोट करो. उन्होंने कहा जो अनारकिस्ट हैं उन्हें झारखंड के जंगलों में चले जाना चाहिए. यहां दिल्ली में उनकी कोई जरूरत नहीं.

भाषण के अंत में मोदी ने कहा कि दिल्ली में आप लोग पूर्ण सरकार चुनिए क्योंकि पूर्ण सरकार ना होने की वजह से लोगों का एक साल बर्बाद हुआ. आप लोग प्रदेश को आगे ले जाने के लिए बीजेपी को वोट करें.
अब देखना दिलचस्प होगा कि आने वाले समय में मोदी और बीजेपी को जनता कितना दिल्ली में लाभ पहुंचाए

वह तो आने वाला समय ही बतायागा। देखाना होगा की जो सरकार अच्छे दिनों का वादा करती हैं क्या वह दिल्ली में अच्छे दिन ला पाने में कामयाब हो पाएगी।